कोरोना समस्या को लेकर सीएम गहलोत से चर्चा की टीएडी मंत्री ने

कोरोना समस्या को लेकर सीएम गहलोत से चर्चा की टीएडी मंत्री ने

जयपुर, 25 मार्च। जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री श्री अर्जुन सिंह बामनिया ने कोरोना वायरस संक्रमण की समस्या के बाद दक्षिण राजस्थान में सीमावर्ती राज्यों से आ रहे लोगों की व्यवस्था, पैदल पहुंचने की घटनाओं और टीएडी विभाग द्वारा की जा रही विभिन्न व्यवस्थाओं व इंतजाम को लेकर मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत से चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने बामनिया को हालात की गंभीरता देखते हुए प्रशासनिक व विभागीय स्तर पर आवश्यक प्रबंध सुनिश्चित करने और आमजन को राहत देकर सुरक्षा के लिए व्यापक प्रबंध के निर्देश दिये। 
 
  गौरतलब है कि बामनिया सूरत, मुंबई व अन्य क्षेत्रों से दक्षिण राजस्थान की सीमाओं पर पहुंच रहे लोगों से जुड़ी व्यवस्थाओं की निगरानी व देखरेख में जुट गये हैं।
 
कोरोना संक्रमण समस्या होने के बाद एक पखवाड़े से अधिक समय से राजस्थान के दक्षिण संभाग में सुरक्षात्मक व राहतकारी व्यवस्थाओं को बेहतर बनाने, जन जागरूकता में जुटे बामनिया ने कहा है कि कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर आमजन भयग्रस्त न हों, सुरक्षा के प्रति सजग रहें और सरकार, प्रशासन, टीएडी विभाग व चिकित्सा विभाग द्वारा इस संक्रमण की रोकथाम हेतु की गई व्यवस्थाओं में सहयोग दें ताकि सभी के स्वास्थ्य संरक्षण कार्यक्रम को प्रभावी ढंग से क्रियान्वित किया जा सके। श्री बामनिया ने कहा कि कोरोना से संक्रमित लोगों से अन्य लोगों को संक्रमण न हो इसलिए सरकार द्वारा स्थापित केन्द्रोें पर चिकित्सा जांच करवाएं और सभी की सुरक्षा हेतु की गई व्यवस्थाओं में सहयोग दें। उन्होंने कहा कि प्रदेश की सीमाओं पर पहुंचे लोगों के लिए सभी आवश्यक व्यवस्थाएं की गई है।
 
श्री बामनिया ने कहा कि राजस्थान के मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में राज्य सरकार इस महामारी से प्रदेशवासियों के बचाव हेतु सतत प्रयासरत व कटिबद्ध है और जनजाति क्षेत्र में अन्य क्षेत्रों से आ रहे लोगों की चिकित्सकीय जांच व उपचार, खाद्य व्यवस्था और अन्य व्यवस्थाएं सीमावर्ती क्षेत्रों में करने पूरे मनोबल से जुटी है अतः देश के अन्य क्षेत्रों में रोजगार आदि कार्यो से जुड़े लोग जो प्रदेश की दक्षिण सीमाओं तक पहुंच चुके हैं वो सीमाओं पर कायम चैक पोस्ट पर चिकित्सकीय जांच करवाएं व सरकार की व्यवस्थाओं से राहत प्राप्त कर सकते हैं। श्री बामनिया गुजरात व मध्यप्रदेश के टीएडी विभाग व प्रशासनिक अधिकारियों के सतत सम्पर्क में हैं और अन्य क्षेत्रों से दक्षिण राजस्थान की सीमाओं पर पहुंच चुके लोगों के लिए जारी राहत कार्यों की प्रभावी निगरानी की जा रही है। बामनिया ने कहा कि कोरोना संक्रमण विश्वव्यापि गंभीर समस्या है और इससे बचाव ही इसका उपचार है अतः केन्द्र व राज्य सरकार की एडवाईजरी मानकर घर पर रहें, अत्यावश्यक कार्य होने पर ही बाहर निकलें व सुरक्षित रहें। उन्होंने कहा कि दक्षिण राजस्थान में जनजाति विभाग तत्परता से राहत व सुरक्षा के इंतजाम में जुटा हुआ है और आमजन प्रशासन की व्यवस्थाओं में पूरा सहयोग दें। बामनिया ने कहा कि आपदा की घड़ी में समाज के सक्षम प्रतिनिधि जरूरतमंद लोगों को राहत देने आगे आ रहे हैं यह सकारात्मक व मानवीय संदेश है। 
 
जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री ने की क्षेत्रवासियों एवं जनप्रतिनिधियों से हरसंभव सहायता की अपील
श्री बामनिया ने क्षेत्रवासियों से अपील की है कि सरकार, प्रशासन व चिकित्सा विभाग के निर्देश व सलाह का पालन कर कोरोना संक्रमण से बचाव अभियान में अपना महती योगदान करें।
 
ध्यान रहे बामनिया कोरोना संक्रमण से बचाव हेतु राजस्थान में स्थापित राहत कोष हेतु एक माह का वेतन दिया है और अपने क्षेत्रीय विधायक मद से भी एक लाख रूपये सेनेटाईजर व मास्क आदि सामग्री के द्वारा प्रशासन बांसवाड़ा को जारी किये हैं।
 
बाहर से आने वाले लोगो पर रखे ध्यान, स्वास्थ्य विभाग के निर्देशों की पालना में दे अपना सहयोग
जनजाति क्षेत्रीय विकास मंत्री अर्जुनसिंह बामनिया ने  जिले के समस्त जनप्रतिधियों से आग्रह किया है कि वे अपने - अपने क्षेत्र में बहार कार्य व मजदूरी के लिए गए लोग पुनः अपने गांव में लौट रहे है उनकी प्राथमिकता के साथ स्वास्थ्य जांच करवाने के लिए समझाईश करते हुए उनकी स्वास्थ्य की जांच करवानें के लिए नजदीकी स्वास्थ्य केन्द्र पर भेजे। 
 
वे बिना स्वास्थ्य जांच करवाएं घर में न जाए उसका विशेष ध्यान रखें ताकि इस महामारी से बचाव हो सके। उन्होेंने कहा कि हम सभी की जिम्मेदारी है कि हम सब मिलकर सामूहिक प्रयासों एवं बचाव के उपायों की मदद से कोरोना को हराने के लिए पूरी सजगता एवं सतर्कता के साथ इस चुनौती का समाना करें। उन्होंने कहा कि चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी एडवाईजरी का अक्षरशः पालन कराने के लिए हर स्तर पर जन चेतना जगाई जा रही है।
 
फसल कटाई कार्य में कोविड-19 के खतरे से बचने दिशा-निर्देश जारी

बामनिया ने कहा कि वर्तमान में रबी-2019-20 फसलों की कटाई चलने के परिप्रेक्ष्य में कटाई कार्य में कोरोना वायरस (कोविड-19) के संक्रमण के खतरे को दूर करने हेतु कृषि विभाग द्वारा दिशा-निर्देश भी जारी किये गये हैं। उन्होंने किसानों से अनुरोध किया है कि वह दिशा-निर्देशों का पालन करें।