मृत्युदर घटाने और रिकवरी रेशो बढ़ाने पर विशेष ध्यान -चिकित्सा एवं...

मृत्युदर घटाने और रिकवरी रेशो बढ़ाने पर विशेष ध्यान -चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

जयपुर, 28 जुलाई। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश में 71 फीसद से ज्यादा लोग पॉजिटिव से नेगेटिव हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में मृत्युदर भी घटकर 1.68 रह गई है। आने वाले दिनों में मृत्युदर घटाने और रिकवरी रेशो बढ़ाने पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। किसी भी आपातकाल के लिए सरकार और स्वास्थ्य विभाग मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के नेतृत्व में पूरी तरह सजग और सतर्क हैं।
 
 42 हजार 540 जांच प्रतिदिन करने की क्षमता
 
 डॉ. शर्मा ने राज्य में जांच की सुविधा में इजाफा किया गया है। अब प्रदेश में 42 हजार 540 जांच प्रतिदिन करने की क्षमता विकसित कर ली है। अब तक 14 लाख से ज्यादा लोगों की जांच अब तक की जा चुकी है। प्रदेश में कोरोना के एक्टिव केसेज की संख्या 10 हजार है। उन्होंने कहा कि सरकार पूरी तरह सजग और सतर्क है। मुख्यमंत्री स्वयं दो दिनों से अधिकारियों की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग कर फीडबैक ले रहे हैं और आवश्यक दिशा-निर्देश भी दे रहे हैं। 
 
 कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में गत
 
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जिन जिलों में कोरोना के प्रसार में बढ़ोतरी हुई है उन जिलों के कलेक्टर्स को क्षेत्र के अनुसार स्थानीय लॉकडाउन लगाने के भी आदेश दिए जा चुके हैं। अलवर, जोधपुर सहित कुछ जिलों में कॉन्टेक्ट ट्रेसिंग में गति लाई जा रही है, रैंडम सैंपलिंग की जा रही है। इसके अलावा हर वह संभव प्रयास किए जा रहे हैं, जिससे कोरोना के प्रसार पर नियंत्रित किया जा सके। इन क्षेत्रों में जरूरत के अनुसार 40 हजार की कीमत वाला टोसिलीजूमेब इजेक्शन लगाने के भी निर्देश दिए जा चुके हैं। कोरोना से कोई भी मृत्यु ना हो इसे सुनिश्चित किया जाएगा।