जागरूकता अभियान की वर्चुअल लॉन्चिंग सोमवार को अपने स्वास्थ्य क...

जागरूकता अभियान की वर्चुअल लॉन्चिंग सोमवार को अपने स्वास्थ्य का खुद ख्याल रखना ही कोरोना से बचाव का मुख्य उपाय -मुख्यमंत्री 21 से 30 जून तक चलेगा देश का पहला व्यापक जागरूकता अभियान 11500 ग्राम पंचायतें वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जुड़ेंगी

जयपुर, 21 जून। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत सोमवार को कोरोना संक्रमण के प्रति जागरूकता के लिए विशेष अभियान की शुरूआत मुख्यमंत्री निवास से प्रातः 11 बजे वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से करेंगे। ‘‘खुद के स्वास्थ्य का खुद ख्याल रखना ही कोरोना से बचने का मुख्य उपाय है‘‘, थीम के साथ संचालित इस अभियान का लक्ष्य है कि राजस्थान में कोरोना संक्रमण से रिकवरी की दर अधिक तेजी से बढे़ तथा मृत्यु दर निरंतर कम होते हुए नगण्य हो जाए।
 
श्री गहलोत कोरोना संक्रमण की रोकथाम के मूलमंत्र ‘सोशल डिस्टेंसिंग‘ और ‘भीड़-भाड़ से दूर रहने की भावना को अंगीकार करते हुए अभियान की वर्चुअल लॉन्चिंग करेंगे। प्रदेश के हरेक गांव-ढाणी और मोहल्ले तक आमजन को जागरूक करने के उद्देश्य से शुरू किए जा रहे इस दस दिवसीय अभियान की लॉन्चिंग के दौरान आम लोग प्रदेशभर की करीब 11 हजार 500 लोकेशन से वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए मुख्यमंत्री का संदेश सुन सकेंगे। जिला प्रभारी मंत्री, प्रभारी सचिव, जिला कलेक्टर एवं अन्य जिला स्तरीय अधिकारी जिलों में इस वर्चुअल लॉन्चिंग कार्यक्रम में शामिल होंगे। 
 
इस कार्यक्रम में कोरोना महामारी के संक्रमण से बचाव के लिए प्रदेश स्तर पर गठित कोर गु्रप एवं क्वारेंटीन समितियाें के सदस्य, पुलिस एवं प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी, चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, ऊर्जा, जलदाय, कृषि एवं पशुपालन विभाग के अधिकारी-कर्मचारी, उप खण्ड अधिकारी, बीडीओ, सरपंच, पटवारी, ग्राम सेवक, ग्राम पंचायत स्तरीय कोर कमेटी के सदस्य, मीडिया के प्रतिनिधि आदि भी वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से जुड़ेंगे।
 
उल्लेखनीय है कि राजस्थान देश का पहला राज्य है, जिसने कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए आमजन को जागरूक करने के उद्देश्य से इतना व्यापक प्रचार-प्रसार अभियान प्रारम्भ किया है। जिसमें हर व्यक्ति को मास्क लगाने, दो गज दूरी रखने, बार-बार हाथ धोने, सार्वजनिक स्थान पर नहीं थूकने, कोरोना के लक्षण नजर आने पर तुरंत नजदीकी अस्पताल में जाकर जांच कराने एवं परामर्श लेने जैसी सावधानियां बरतने के लिए जागरूक किया जाएगा। 
 
मुख्यमंत्री श्री गहलोत ने जनप्रतिनिधियों, अधिकारी-कर्मचारियों, भामाशाहों, स्वयं सहायता समूहों, सामाजिक संगठनों सहित हर आमजन से इस अभियान में सक्रिय भागीदारी निभाने की अपील की है। उन्होंने कहा है कि राज्य सरकार की ओर से उठाए जा रहे कदमों एवं आमजन से मिले सहयोग के कारण ही आज राजस्थान में इस बीमारी से रिकवरी की दर देश में सबसे ज्यादा 77 प्रतिशत से अधिक है। प्रदेश में कोरोना से मृत्यु दर भी अन्य राज्यों की तुलना में काफी कम करीब 2.32 प्रतिशत है। उन्होंने कहा कि जागरूकता अभियान का लक्ष्य संक्रमण से रिकवरी की दर को और तेजी से बढ़ाना तथा मृत्यु दर को कम करना है।