परिवार की सुरक्षा के लिये महिलाओं को कोरोना योद्धा की भूमिका निभ...

परिवार की सुरक्षा के लिये महिलाओं को कोरोना योद्धा की भूमिका निभानी होगी - महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री

जयपुर, 3 जून। महिला एवं बाल विकास राज्यमंत्री ममता भूपेश ने कहा कि परिवार की सुरक्षा के लिये महिलाओं को आगे आकर कोरोना योद्वा की भूमिका निभानी होगी। उन्होंनेे कहा कि कोरोना महामारी के दौरान अपने परिवार, गांव व क्षेत्र को बचाने के लिये सभी महिलाओं को आगे आना होगा। 
 
बुधवार को श्रीमती भूपेश दौसा जिले की ग्राम पंचायत कालाखों, सिकन्दरा व मानपुर में निवास कर रहे ऎसे परिवार जो किसी भी श्रेणी मेंं लाभान्वित नहीं हुये हैं उन परिवारों को खाद्यान्न वितरण करते हुये बोल रही थी। उन्होंने कहा कि कोरोना अभी गया नहीं हैं , इससे बचने के लिये डब्ल्यू एच ओ, केन्द्र व राज्य सरकार ने जो गाईड लाईन जारी की है उसकी पालना करने से ही कोरोना से बचा जा सकता है। इसके लिये सभी महिलाये अपना दायित्व निभाये तथा घर पर रह कर ही अपने दैनिक जीवन के कार्यो का निस्तारण करे। अति आवश्यक होने पर ही घर से निकले, लेकिन पूर्ण सुरक्षा के साथ। 
 
उन्हाेंने कहा कि कोरोना की अभी कोई वैक्शीन नहीं बनी है। बचाव ही कोरोना का उपचार है। उन्हाेंने कहा कि जिले में कोई भी व्यक्ति भूखा नहीं सोये ,इसके लिये जिले के प्रशासन ने, भामाशाहों ने,समाज सेवी संगठनों ने व आमजन ने आगे आकर सहयोग प्रदान किया है, इसके लिये मैं सभी को धन्यवाद देती हूं। उन्होंने कहा कि अब भी कोरोना के दौरान सिकराय विधानसभा क्षेत्र में किसी भी परिवार को भूखा नहीं सोने दिया जाएगा। प्रत्येक ऎसा परिवार जो असहाय है उसके साथ सरकार खड़ी है उनकी हर संभव मदद की जायेगी।
 
 इस अवसर पर महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री,उपखंड अधिकारी दौसा श्री पुष्कर मित्तल द्वारा ग्राम पंचायत क्षेत्र में निवास करने वाले 81 अलाभान्वित परिवारों को 10 किलो गेहूं व 5 किलो चावल प्रत्येक परिवार को वितरित किया गया। उन्हाेंने बताया कि विधान सभा क्षेत्र सिकराय में खाद्यान्न को उन परिवारों को बांटने की योजना है जो परिवार किसी भी योजना में नहीं जुड़े हुऎ है।