केन्द्रीय खाद्य सुरक्षा दलों द्वारा इस वर्ष लिये गये 115 नमूनों की...

केन्द्रीय खाद्य सुरक्षा दलों द्वारा इस वर्ष लिये गये 115 नमूनों की जांच रिपोर्ट प्राप्त

जयपुर, एक जून। मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत ने शनिवार को राजसमन्द जिले की भीम पंचायत समिति के देव डूंगरी गांव का दौरा किया। उन्होंने यहां ग्रामीणों तथा स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों के साथ संवाद किया। 
 
संवाद के दौरान ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को वनाधिकार अधिनियम सहित तमाम मुद्दों पर अपने विचार और अनुभव बताए। साथ ही उन्होंने ग्रामीण विकास तथा प्रदेश के उत्थान में मुख्यमंत्री के योगदान की सराहना की। स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने श्रमिक कल्याण से संबंधित विभिन्न योजनाओं, सामाजिक सुरक्षा योजनाओं, वन अधिकार अधिनियम सहित अन्य विषयों पर संवाद किया। उन्होंने मुख्यमंत्री को अपनी समस्याओं से भी अवगत कराया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीणों को आश्वस्त किया कि उनकी वाजिब समस्याओं का शीघ्र निराकरण किया जाएगा। 
मुख्यमंत्री ने यहां ग्रामीण महिलाओं के समूहों और मनरेगा की महिला श्रमिकों के बीच पहुंचकर भी चर्चा की और क्षेत्र के समसामयिक हालातों के बारे म¬ें जानकारी ली।  मुख्यमंत्री का स्वयंसेवी संस्थाओं, क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों एवं ग्रामीणों ने स्वागत किया।
 
इससे पहले मुख्यमंत्री ने यहाँ उस झोंपड़ी का अवलोकन किया, जहां से सामाजिक कार्यकर्ता अरुणा राय ने सूचना का अधिकार एवं रोजगार गारंटी को लेकर सूत्रपात किया था। मुख्यमंत्री को अरुणा राय ने इस स्थल का अवलोकन कराया और रचनात्मक कार्यों की पृष्ठभूमि के बारे मेंं जानकारी दी। मुख्यमंत्री झोपड़ी में रह रहे परिवार से भी मिले।
 
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीपी जोशी, विधायक श्री सुदर्शन सिंह, श्री रामलाल जाट, संभागीय आयुक्त श्री भवानी सिंह देथा, उदयपुर रें¬ज के पुलिस महानिरीक्षक श्री प्रफुल्ल कुमार दक, जिला कलक्टर श्री अरविंद कुमार पोसवाल, जिला पुलिस अधीक्षक श्री भुवनभूषण यादव, सामाजिक कार्यकर्ता श्री निखिल डे, श्री शंकर सिंह सहित अन्य जनप्रतिनिधिगण, समाजसेवी और बड़ी संख्या म¬ें ग्रामीणजन उपस्थित थे।मुख्यमंत्री ने स्वयंसेवी संस्थाओं एवं ग्रामीणों से संवाद किया