चिकित्सा मंत्री ने की मौसमी बीमारियों की समीक्षा बैठक

चिकित्सा मंत्री ने की मौसमी बीमारियों की समीक्षा बैठक

जयपुर, 30 मई। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ.रघु शर्मा ने मौसमी बीमारियों मलेरिया, डेंगू, चिकनगुनिया की रोकथाम की प्रभावी कार्यवाही सुनिश्चित करने के निर्देश हैं। उन्होंने हाई रिस्क ग्रुप के मरीजों यथा नवजात शिशुओं, गर्भवती महिलाओं, वृद्धजनों की विशेष देखभाल सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये हैं। 
 
डॉ.शर्मा ने गुरूवार को स्वास्थ्य भवन में आयोजित समीक्षा बैठक में मौसमी बीमारियों के नियंत्रण एवं रोकथाम गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा कर आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों को वेंटीलेटर के उपयोग के लिये आवश्यक प्रशिक्षण देने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने आयुर्वेद, होम्योपैथी व यूनानी अस्पतालों में भी मौसमी बीमारियों की आवश्यक दवाइयों की पर्याप्त आपूर्ति के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने आयुर्वेद, होम्योपैथी एवं यूनानी चिकित्सकों को ब्लड स्लाइड लेने संबंधी प्रशिक्षण नजदीकी चिकित्सा संस्थान केन्द्र पर आयोजित कर प्रशिक्षित करने के निर्देश दिये। स्वाइन फ्लू, जीका वायरस के संबंध में भी विशेष सतर्कता बरतने के साथ ही पर्याप्त दवा व जांच सुविधाओं की पुख्ता व्यवस्था कर निर्देश दिये हैं। 
 
डॉ. शर्मा ने जिला प्रभारियों को मौसमी बीमारियों की नियमित समीक्षा करने के साथ ही घरों में लार्वा मिलने पर नियमानुसार चालान कार्यवाही के निर्देश दिये हैं। उन्होंने चिकित्सा कार्मिकों को स्वाइन फ्लू से बचाव लिये वैक्सीनेशन करवाने की आवश्यकता पर बल दिया। उन्होंने सभी जिलों से रेपिड रेसपॉन्स टीमों के दो-दो सदस्यों का राज्य स्तर पर मौसमी बीमारियों के संबंध में प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित करवाने के भी निर्देश दिये। उन्होंने प्रदेश में भीषण गर्मी, लू-तापघात को देखते हुए भी चिकित्सा संस्थानों में आवश्यक व्यवस्थाए सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिये हैं।
 
अतिरिक्त मुख्य सचिव चिकित्सा एवं स्वास्थ्य श्री रोहित कुमार सिंह ने प्रदेश में मौसमी बीमारियों की रोकथाम एवं इनसे बचाव की जानकारी आमजन तक पहुंचाने संबंधी गतिविधियों की विस्तार से समीक्षा। उन्होंने जिला कलेक्टर श्री जगरूप सिंह ने बताया कि द्रव्यवती नदी के क्षेत्रों में मच्छरों की रोकथाम की कार्यवाही की गई है
 
बैठक में शासन सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री हेमंत गेरा, मिशन निदेशक एनएचएम डॉ.समित शर्मा, प्रबंध निदेशक आरएमएससीएल श्री सुरेश कुमार गुप्ता, निदेशक जनस्वास्थ्य डॉ.वी.के.माथुर, प्रिंसीपल एसएमएस मेडिकल कॉलेज डॉ.सुधीर भंडारी, अतिरिक्त निदेशक ग्रामीण स्वास्थ्य डॉ.रवि प्रकाश शर्मा सहित वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। 
चिकित्सा मंत्री ने की मौसमी बीमारियों की समीक्षा बैठक