उत्तर प्रदेश के 86 श्रमिक राजस्थान रोडवेज बसों से रवाना, अब तक करी...

उत्तर प्रदेश के 86 श्रमिक राजस्थान रोडवेज बसों से रवाना, अब तक करीब 800 श्रमिकों को रोडवेज भेजा गृह राज्य

जयपुर,, 22 मई। अपने गृह राज्य जाने के इच्छुक प्रवासी श्रमिकों को भेजने के राज्य सरकार के अभियान के अन्तर्गत उत्तर प्रदेश के 86 श्रमिकों को शुक्रवार को जिला प्रशासन ने राजस्थान रोडवेज की बसों से रवाना किया। 
 
उपखण्ड अधिकारी भरतपुर संजय गोयल ने बताया कि उत्तर प्रदेश में पीलीभीत, बदायूं , बरेली सहित विभिन्न जिलों के इन श्रमिकों को शुक्रवार दोपहर 2 से 3 बजे के बीच राजस्थान रोडवेज की 3 बसों से उत्तर प्रदेश में हाथरस स्थित ट्रांजिट प्वाइंट के लिये रवाना किया गया। हाथरस से यूपी  सरकार अपने स्तर पर इन्हें इनके गृह जिलों में भिजवाने का कार्य करेगी। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार के आदेशों के तहत इन लोगों को पूरे सम्मान के साथ जिले से विदा किया गया है। रवाना करने से पहले उन्हें भोजन, पानी की बोतल, मास्क, बिस्किट वितरित किये गए। उन्होंने बताया कि गुजरात के प्रवासियों एवं श्रमिकों को भी राजस्थान रोडवेज की बसों के द्वारा भिजवाने की व्यवस्था की जा रही है। उन्होंने बताया कि अब तक भरतपुर जिले के विभिन्न उपखण्डों में फंसे करीब 800 श्रमिकों को बसों द्वारा उनके गृह राज्य भिजवाया गया है।
  
भरतपुर डिपो के मुख्य महाप्रबंधक अवधेश शर्मा ने बताया कि रवाना होते समय बस स्टेण्ड पर जाने वाले श्रमिकों तथा उनके परिवार के लोगों की मेडिकल जांच की गई, उनके दस्तावेज चैक करने के बाद उन्हें भोजन के पैकेट तथा पीने के पानी की बोतल वितरित कर उन्हें निर्धारित बसों में बैठाया गया। 
 
श्रमिकों का कहना था कि कोविड-19 की रोकथाम के लिए सरकार द्वारा जारी लॉकडाउन में राजस्थान सरकार ने उनकी सुध लेते हुये उत्तर प्रदेश भिजवाने की पहल की है।