कोरोना के विकट समय में भी बालिका शिक्षा को किया प्रोत्साहित स्वी...

कोरोना के विकट समय में भी बालिका शिक्षा को किया प्रोत्साहित स्वीकृत राशि पात्र बालिकाओं के बैंक खातों में होगी स्थानान्तरित बालिका शिक्षा के लिए राज्य सरकार ने दिए 42.78 करोड़ राशि

जयपुर, 20 मई। बालिका शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए गार्गी एवं बालिका शिक्षा प्रोत्साहन योजना के अंतर्गत शिक्षा राज मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने राज्य की 1 लाख 2 हजार 624 बालिकाअेां को 42.78 करोड़  रूपये की राशि उनके खातों में स्थानान्तरित करने के निर्देश दिए हैं।  उनके निर्देश पर बैंक द्वारा बालिकाओं के खातों में उनकी पात्रता अनुसार राशि स्थानान्तरित किए जाने की शुरूआत भी हो गयी है।
 
शिक्षा राज मंत्री श्री गोविन्द सिंह डोटासरा ने बताया कि माध्यमिक शिक्षा बोर्ड, अजमेर द्वारा आयोजित कक्षा 10वीं एवं कक्षा 12वीं परीक्षा 2019 में 75 प्रतिशत या इससे अधिक अंक प्राप्त करने वाली बालिकाओं को गार्गी एवं बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार दिए जाने हेतु यह राशि उनके खाताें में स्थानान्तरित की जा रही है। उन्हाेंने बताया कि मुख्यमंत्री श्री अशोक गहलोत के साथ हुई बैठक में उनकी पहल पर यह तय किया गया था कि कोरोना के इस विकट दौर में भी बालिका शिक्षा को सर्वोच्च प्राथमिकता में रखा जाए और उनकी शिक्षा में किसी तरह की बाधा नहीं आनी चाहिए। 
 
श्री डोटासरा ने बताया कि गार्गी पुरस्कार हेतु कक्षा 10वीं की आवेदन करने वाली पात्र 42 हजार 644 बालिकाओं को प्रति बालिका 3 हजार रूपये के आधार पर   12.79 करोड रूपये की राशि प्रदान की जा रही है। इसी तरह कक्षा 12वीं की आवेदन करने वाली पात्र  59 हजार 980 बालिकाओं  को 5 हजार रूपये प्रति के आधार पर 29.99 करोड रूपये राशि उनके खातों में स्थानान्तरित करने की कार्यवाही की जा रही है।
 
शिक्षा मंत्री ने बताया कि गार्गी एवं बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार के लिए शिक्षा विभाग द्वारा माह फरवरी-मार्च 2020 में शाला दर्पण पर ऑनलाईन आवेदन पत्र भरवाये गये थे। उन्होंने कहा कि बालिका शिक्षा सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। उन्होंने गार्गी एवं बालिका प्रोत्साहन पुरस्कार पाने वाली बालिकाआें को बधाई और शुभकामनाएं दी है।