बांसवाड़ा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिवों की बैठक प्रव...

बांसवाड़ा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिवों की बैठक प्रवासी श्रमिकों के क्वारेंनटाईन पूर्णता के साथ मनरेगा में उपलब्ध कराए रोजगार - जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री

जयपुर, 16 मई। जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री श्री अर्जुनसिंह बामनिया ने कहा कि कोरोना वायरस संक्रमण से उत्पन्न परिस्थितियों के बीच अन्य राज्यों से आ रहे प्रवासी श्रमिकों का क्वारेंनटाइन पूरा कराने तथा इसके साथ ही इन प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा योजना के माध्यम से समय पर रोजगार उपलब्ध कराने के लिए योजनाबद्ध रूप से कार्य पूर्ण किया जाए ताकि प्रवासी श्रमिकों को राहत मिल सके।
 
जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री श्री बामनिया शनिवार को बांसवाड़ा पंचायत समिति की अबापुरा क्षेत्र के ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं सचिवों के लिए राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय अबापुरा एवं माहीडेम मार्ग स्थित ग्राम पंचायतो ंके सरपंचों व सचिवों को कलेक्टे्रट स्थित जनजाति विकास विभाग के सभागार में आयोजित बैठक में सम्बोधित कर रहे थे।
 
बैठक में मंत्री श्री बामनिया ने प्रत्येक ग्राम पंचायत के सरपंच एवं सचिव से व्यक्तिशः ग्राम पंचायत में मनरेगा योजना में चलाए जा रहे कार्यो, लाभान्वित किए जा रहे श्रमिकों, क्वारेनटाईन किए गए प्रवासी श्रमिकों एवं क्वारेनटाईन की पूर्णता के साथ इन प्रवासी श्रमिकों को मनरेगा योजना में रोजगार उपलब्ध कराए जाने के बारे में जानकारी लेते हुए दिशा-निर्देश दिए।
 
उन्होंने कोरोना संक्रमण काल में अन्य राज्यों से आ रहे प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं एवं पीडा को समझते हुए उनकी दिक्कतों को दूर करने का आह्वान करते हुए कहा कि अन्य राज्य से आने पर इन प्रवासी श्रमिकों को सर्वप्रथम पूरी सतर्कता के साथ क्वारेनटाइन पूर्ण कराया जाए ताकि कोरोना संक्रमण के रोकथाम के लिए अच्छा कार्य किया जा सके साथ ही क्वारेनटाइन पूर्ण होने के साथ इन प्रवासी श्रमिकों के लिए राशन उपलब्ध कराने एवं रोजगार के लिए मनरेगा योजना में रोजगार उपलब्ध कराकर समय पर राहत पहुंचाए।
 
श्री बामनिया ने कहा कि प्रवासी श्रमिक अन्य राज्यों से आ रहे है ऎसे में इनके प्रति पूरी हमदर्दी के साथ उनकी समस्याओं का समाधान करना हमारा नैतिक दायित्व है जिसे पूरी निष्ठा एवं कर्तव्य के साथ पूरा कर हम सेवा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य कर सकते है।
 
उन्होंने ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं सचिवों के आह्वान किया कि वे इस संकट के समय में जरूरतमदों की हर तरह से मदद के लिए तैयार रहते हुए प्रवासी श्रमिकों को राहत प्रदान करने के लिए तत्पर रहे।
 
राज्यमंत्री श्री बामनिया ने कहा कि मनरेगा में रोजगार के दौरान गर्मी के मौसम को देखते हुए श्रमिकों के लिए पर्याप्त पेयजल, छाया एवं चिकित्सा की व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जाए साथ ही कोरोना संक्रमण की परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए कोरोना से बचाव के लिए सोशल डिस्टेन्सिग, समय समय पर हाथ धोने, मास्क लगाने के उपायों को पूरी तरह लागू करने पर ध्यान दिया जाए जिससे काम पर आने वाले श्रमिकों के स्वास्थ्य सुरक्षा भी मिल सके।
 
बैठक में राज्यमंत्री श्री बामनिया ने गर्मी के मौसम में पेयजल व्यवस्था की चर्चा करते हुए कहा कि क्षेत्र में आमजन को पेयजल की पर्याप्त व्यवस्थाओं की मानिटरिग ग्राम पंचायत स्तर पर की जा कर यह सुनिश्चित किया जाए सभी लोगों को गर्मी के मौसम में आसानी से पेयजल उपलब्ध हो सके। 
 
बैठक में विकास अधिकारी बांसवाड़ा श्री दलिप सिंह ने इन क्षेत्रों में मनरेगा कार्यो के तहत श्रमिकों को उपलब्ध कराए जा रहे रोजगार एवं श्रमिकों के राहत के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी। बैठक में अबापुरा क्षेत्र, केसरपुरा, चाचाकोटा, कडेलिया, निचला घंटाला, उपला घंटाला, लक्ष्मणगढ, झरी, खेरडाबरा, बडवी, कटियोर, बोरखेडा आदि ग्राम पंचायतों के सरपंच एवं सचिव, कनिष्ठ तकनिकी सहायक आदि उपस्थित थे। 
बांसवाड़ा क्षेत्र की ग्राम पंचायतों के सरपंच, सचिवों की बैठक प्रवासी श्रमिकों के क्वारेंनटाईन पूर्णता के साथ  मनरेगा में उपलब्ध कराए रोजगार - जनजाति क्षेत्रीय विकास राज्यमंत्री