बाहर से आने वालों को बॉर्डर पर स्क्रीनिंग के बाद ही प्रवेश, जिला ब...

बाहर से आने वालों को बॉर्डर पर स्क्रीनिंग के बाद ही प्रवेश, जिला बॉर्डर पर मिले आईएलआई रोगियों की स्थानीय चिकित्सा केन्द्र पर होगी जांच -चैक पोस्ट स्थापित किए

जयपुर, 4 मई। जिला कलक्टर डॉ.जोगाराम ने बताया कि बाहर के राज्यों से आने वाले व्यक्तियों को जयपुर जिले की सीमा पर स्क्रीनिंग के बाद संक्रमण के लक्षण नहीं मिलने पर उनके गंतव्य स्थान पर आने दिया जाएगा जहां उन्हें चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के निर्देशानुसार शत-प्रतिशत होम क्वारन्टाईन किया जायेगा। इन लोगों के मोबाइल में राजस्थान कोविड एवं आरोग्य सेतु एप डाउनलोड कराया जायेगा ताकि उनकी टे्रकिंग आसानी से की जा सके। 
 
जिला कलक्टर ने बताया कि होम क्वारेन्टाईन किए गए व्यक्तियों की नियमित मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाएगी। इस हेतु जयपुर शहर में नियुक्त किए गए Incident Commanders (ADM-East, South, North, ADM-III) अपने अधीनस्थ नोडल अधिकारियों के माध्यम से सीएचसी/पीएचसी वार कार्मिकों को लगाकर मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाऎंगी। जयपुर शहर के अलावा जिले के अन्य क्षेत्रों में संबंधित उपखण्ड अधिकारी द्वारा कार्मिक लगाकर होम क्वारेन्टाईन किए गए लोगों की मॉनटरिंग सुनिश्चित की जाएेंगी। 
 
होम क्वारेन्टाईन के अलावा ILI लक्षणों युक्त व्यक्तियों या अन्य कारणों (यथा-घर में जगह की कमी, व्यक्ति की स्वयं की इच्छा इत्यादि) के कारण व्यक्ति को संस्थागत¼Institutional½ क्वारेन्टाईन कराया जाएेंगा। Institutional Quarantine हेतु जयपुर शहर में आवश्यक संख्या में ऎसे क्वारेन्टाईन केन्द्रों का चयन किया जा रहा है। जयपुर शहर के अलावा जिले के अन्य क्षेत्रों में संबंधित उपखण्ड अधिकारी द्वारा ऎसे Institutional Quarantine हेतु पर्याप्त संख्या में QuarantineCenters का चयन करना सुनिश्चित किया जा रहा है। 
 
Quarantine Centers पर SOP के अनुसार पर्याप्त संख्या में व्यवस्था करने हेतु कार्मिक, चिकित्सा कार्मिक, पेयजल, भोजन इत्यादि की व्यवस्था सुनिश्चित की जा रही है। प्रत्येक ग्राम पंचायत स्तर पर ग्रामवार तथा शहरी क्षेत्र में प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र/सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्रवार होम क्वारन्टाईन किये गये व्यक्तियों की सूची रखी जायेगी।
 
ग्रामीण क्षेत्र में प्रत्येक ग्राम पंचायत वार प्रारम्भिक शिक्षा अधिकारी को ग्राम पंचायत का नोडल अधिकारी नियुक्त किया जाएगा जो प्रत्येक ग्राम के लिये मॉनिटरिंग अधिकारी नियुक्त करेंगे, उनके द्वारा नियमित अन्तराल पर होम क्वारन्टाईन किये गये व्यक्तियों की मॉनिटरिंग की जायेगी तथा अन्य नगरपालिका क्षेत्रों में सबंधित उपखण्ड अधिकारी द्वारा कार्मिक लगाकर मॉनिटरिंग सुनिश्चित की जाएेंगी।