किसान हित में 92 केन्द्रों पर 10 प्रतिशत पंजीयन सीमा को बढ़ाया किसान ...

किसान हित में 92 केन्द्रों पर 10 प्रतिशत पंजीयन सीमा को बढ़ाया किसान कल से इन केंद्रों पर करा सकते है पंजीयन सरसों एवं चने के 799-799 क्रय केन्द्र स्थापित

जयपुर, एक मई। सहकारिता मंत्री, श्री उदयलाल आँजना ने बताया कि सरसों के 34 एवं चने के 58 केन्द्रों पर पंजीयन क्षमता पूरी होने पर किसानों के हित में इन 92 केन्द्रों पर 10 प्रतिशत पंजीयन सीमा को बढ़ाया गया है। इन केन्द्रों पर किसान 2 मई से पुनः पंजीयन करवा सकेंगे। अब तक 61.78 करोड़ रूपये मूल्य की 4 हजार 600 मीट्रिक टन सरसों एवं 5 हजार 3 90 मीट्रिक टन चने की खरीद कर ली गई है।
 
श्री आँजना ने बताया कि राज्य में समर्थन मूल्य पर सरसों खरीद हेतु भारत सरकार द्वारा 10 लाख 46 हजार 500 मीट्रिक टन एवं चना खरीद हेतु 6 लाख 5 हजार 7 50 मीट्रिक टन लक्ष्य स्वीकृत किये गये है। कोटा संभाग में 16 अप्रेल से तथा अन्य संभागों में 1 मई से खरीद आरम्भ हो गई है। देशव्यापी कोरोना कोविड 19 संक्रमण के कारण 22 मार्च से खरीद एवं पंजीकरण कार्य स्थगित कर दिया गया था। राज्य में 1 मई से पुनः पंजीयन आरम्भ कर दिये है।
 
उन्होंने बताया कि प्रारम्भ में चना व सरसों के 279 क्रय केन्द्र स्थापित किये गये थे। कोरोना कोविड 19 संक्रमण निरोधक उपायो एवं केन्द्रों पर किसानों की भीड ना हो इसके लिए ग्राम सेवा सहकारी समिति स्तर पर 520 और क्रय केन्द्र स्वीकृत किये गये है। इस प्रकार अब सरसों के 799 एवं चने के 799 क्रय केन्द्रों का संचालन किया जा रहा है। जहॉ किसान अपने निकटस्थ केन्द्र पर सरसों व चने का विक्रय कर सकते है।
 
प्रबंध निदेशक, राजफैड श्रीमती सुषमा अरोडा ने बताया कि किसानों की समस्या के समाधान हेतु राजफैड स्तर पर टोल फ्री हेल्पलाईन नम्बर 1800-180-6001 प्रातः 9 से 7 बजे तक प्रारम्भ कर दिया गया है जिस पर किसान अपनी समस्याओं को हेल्पलाईन नम्बर पर दर्ज करा सकते हैं अथवा अपनी शिकायत एवं समस्या को लिखित में राजफैड मुख्यालय में स्थापित कॉल सेन्टर पर rajfed-kisansamadhan@gmail-com पर मेल भेज सकते है।