रामगंज में कोरोना संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित एक किलोमीटर का क...

रामगंज में कोरोना संक्रमण से सबसे अधिक प्रभावित एक किलोमीटर का क्षेत्र 13 जोन में बांटकर पूरी तरह सीलबंद - हर छोटी-बड़ी गली में बेरिकेडिंग, आरएसी ने संभाला मोर्चा - बुजुर्ग, बीमार एवं इच्छुक व्यक्तियों को वृहद स्तर पर शिफ्ट करने की प्रक्रिया भी शुरू -जिला प्रशासन द्वारा 8 हजार घरों में निःशुल्क राशन का वितरण प्रारम्भ -निगम के 250 से अधिक कर्मियों ने किया पूरे क्षेत्र को सेनेटाइज -अग्रेसिव सैम्पलिंग प्रारम्भ, बुजुर्ग एवं अन्य बीमारियों से ग्रस्त की सेम्पलिंग को प्राथमिकता

जयपुर, 15 अप्रेल। जयपुर में रामंगज क्षेत्र में कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए संक्रमण से सबसे ज्यादा प्रभावित रामगंज की दो चौकड़ियों के करीब एक किलोमीटर के क्षेत्र को 13 जोन में बांटकर नई रणनीति पर काम शुरू कर दिया गया है। इस क्षेत्र के 8 हजार घरों में निःशुल्क राशन पहुंचाना प्रारम्भ कर दिया गया है एवं बेरिकेडिंग कर आरएसी की कम्पनियां तैनात कर दी गई हैं। इन 13 जोन में ही बुधवार तक 365 से अधिक कोरोना पॉजिटिव रिपोर्ट हुए थे। इन 13 जोन से आवश्यकतानुसार बुजुर्ग, बीमार एवं इच्छुक व्यक्तियों को वृहद स्तर पर सुविधा युक्त क्वारेंटाइन सेंटर्स में शिफ्ट करने की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है। 
 
कोरोना संक्रमण से ज्यादा प्रभावित क्षेत्र में कफ्र्यू की स्थिति को अपग्रेड कर इस तरह से सील कर दिया गया है कि कोई भी व्यक्ति इस क्षेत्र से बाहर नहीं जा सके और न ही प्रवेश कर सके। इसके लिए आरएसी की कम्पनियां लगाई गई हैं। चारदीवारी में रामगंज के कुछ क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के मामले अत्याधिक संख्या में पाए जाने के कारण चार दरवाजा चौक से रामगंज चौपड़, लुहारों के खुर्रा से मोती सिंह भोमियों का रास्ता, ठाकुर पचेवर के रास्ते से होते हुए रामगंज बाजार से धाबाई जी का रास्ता, पानों का दरीबा होते हुए मोती कटला, सुभाष चौक से चार दरवाजा चौक तक के क्षेत्र को पूर्ण रूप से सील कर दिया गया है।
 
इस क्षेत्र से बाहर जाना व बाहर से अन्य व्यक्ति (पुलिस व प्रशासन के अतिरिक्त) का प्रवेश पूर्ण वर्जित कर दिया गया है। इस व्यवस्था का उल्लंघन करने पर भारतीय दण्ड संहिता की धारा 188 व 271 एवं आपदा प्रबन्धन अधिनियम 2005 के तहत सजा का प्रावधान है। क्षेत्र को सील किए जाने के साथ ही यहां के निवासियों के लिए राशन आदि की पूरी व्यवस्था की गई है। क्षेत्र के करीब 8 हजार घरों में दो-दो किट राशन सामग्री (आटा, दाल, चावल, तेल, मसाले आदि)  निःशुल्क पहुंचाए जा रहे हैं ताकि यहां रहने  वालों को राशन की समस्या नहीं हो। दूध आदि भी यहां चुनींदा ई रिक्शा पर एवं सब्जी भी न्यूनतम आवश्यक ठेलों द्वारा घर-घर पहंंुचाई जाएगी। दूध, फल-सब्जी गैस सिलैण्डर डिलीवरी के लिए 9887177430, 8302879599 पर सम्पर्क किया जा सकता है। अन्य किसी भी समस्या के लिए पुलिस कन्ट्रोल रूम नम्बर 0141-2661170 एवं 0141-2661676 पर सम्पर्क किया जा सकता है। 
 
सम्पूर्ण प्रभावित क्षेत्र में अग्रेसिव सैम्पलिंग प्रारम्भ की गई है। इस दौरान विशेष रूप से बुजुर्गों, कोरोना के लक्षण वाले व्यक्तियों एवं अन्य बीमारियों से ग्रस्त व्यक्तियों के सैम्पल लिए जाने पर जोर रहेगा। सैम्पल्स में जो व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव मिलेंगे उनको क्वारेंटाइन किया जाएगा।  निगम के 250 से अधिक कार्मिकों द्वारा सम्पूर्ण सील किए गए क्षेत्र की सफाई एवं सेनेटाइजेशन का कार्य पूरा कर लिया गया है और आवश्यतानुसार सफाई एवं सेनेटाइजेशन कार्य जारी रहेगा।