अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कोरोना संदिग्ध और संक्रमितों के उपचार व क...

अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कोरोना संदिग्ध और संक्रमितों के उपचार व क्वारेंटाइन के लिए दिए विशेष दिशा-निर्देश

जयपुर, 14 अप्रेल। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव श्री रोहित कुमार  सिंह ने कोरोना वायरस से संदिग्ध और संक्रमित मरीजों को अलग-अलग करने और चिकित्सा संस्थानों में उपलब्ध संसाधनों के इस्तेमाल के लिए विशेष दिशा-निर्देश जारी किए हैं।

इन निर्देशों के अनुसार जयपुर में  कोरोना संक्रमण के लक्षण व  60 वर्ष से अधिक आयु के तथा किसी अन्य गंभीर बीमारी से  ग्रसित मरीजों को इलाज के लिए सवाई मानसिंह चिकित्सालय, आरयूएचएस चिकित्सालय या महात्मा गांधी चिकित्सालय, सीतापुरा अस्पताल मंस भर्ती किया जाएगा।
 
जयपुर के कोरोना से संक्रमित ऎसे समस्त मरीज जिनमें कोरोना संक्रमण के लक्षण नहीं हैं उन्हें इलाज के लिए निम्स मेडिकल कॉलेज,राजकीय जयपुरिया अस्पताल और ईएसआई मॉडल अस्पताल में भर्ती किया जाएगा। इसी तरह जयपुर में कोरोना संक्रमण के संदिग्धों को क्वांरटाइन के लिए आरयूएचएस नहीं भेजा जाकर अन्य निर्धारित क्वांरटाइन सेन्टरों पर भेजा जाएगा। इस संबंध में जिला कलेक्टर, जयपुर द्वारा पृथक से व्यवस्था की जा रही है।
 
अतिरिक्त मुख्य सचिव ने कहा कि विभिन्न जिलों से भी कोरोना से संक्रमित लक्षण रहित मरीजों को सवाई मानसिंह चिकित्सालय रैफर नहीं कर इनका संबंधित जिले के जिला चिकित्सालय में भारत सरकार एवं राज्य सरकार की गाइड लाइन के अनुसार इलाज किया जाएगा। इसके लिए मरीजों का वर्गीकरण सामुदायिक स्तर पर होने वाले सर्वे के दौरान संबंधित चिकित्सा दल के प्रभारी चिकित्सक या क्षेत्र की संबंधित प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र या सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र या डिस्पेन्सरी के चिकित्सक द्वारा तथा क्वांरटाइन संस्थानों में उक्त संस्थान के प्रभारी चिकित्सक द्वारा निर्धारित चौक लिस्ट अनुसार किया जाएगा।