लॉकडाउन के दौरान ज्यादा लोगों के सम्पर्क में आने वालों की होगी र...

लॉकडाउन के दौरान ज्यादा लोगों के सम्पर्क में आने वालों की होगी रेपिड टेस्ट किट से रेण्डम जांच, किराना दुकानदार, पुलिस, चिकित्साकर्मी भी शामिल - नोडल अधिकारी एवं प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा विभाग - जयपुर जिले को 12 अप्रेल तक मिलेंगे कोरोना के 1500 से अधिक रेपिड टेस्ट किट -आवश्यक सेवाओं से जुडे़ डेयरी, बिजली-पानी कर्मी, अखबारों के हॉकर्स, किराना दुकानदारों, आवश्यक सेवाओं से जुडे़ चालू उद्योगों के श्रमिक आदि की होगी जांच

लॉकडाउन के दौरान ज्यादा लोगों के सम्पर्क में आने वालों की होगी रेपिड 
टेस्ट किट से रेण्डम जांच, किराना दुकानदार, पुलिस, चिकित्साकर्मी भी शामिल
- नोडल अधिकारी एवं प्रमुख शासन सचिव ऊर्जा विभाग
- जयपुर जिले को 12 अप्रेल तक मिलेंगे कोरोना के 1500 से अधिक रेपिड टेस्ट किट
-आवश्यक सेवाओं से जुडे़ डेयरी, बिजली-पानी कर्मी, अखबारों के हॉकर्स, किराना दुकानदारों, आवश्यक सेवाओं से जुडे़ चालू उद्योगों के श्रमिक आदि की होगी जांच
 
जयपुर, 8 अपे्रल। कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए जयपुर जिले के नोडल अधिकारी ऊर्जा विभाग के प्रमुख शासन सचिव श्री अजिताभ शर्मा ने बताया कि जयपुर जिले को 12 अप्रेल तक करीब 1500 से अधिक कोरोना एंटीबॉडी रेपिड टेस्ट किट मिल जाएंगे। इनका उपयोग प्राथमिक रूप से चारदीवारी के बाहर के इलाकों मेें उन लोगों की जांच के लिए किया जाएगा जो आवश्यक सेवाओं से जुडे़ होने के कारण लोगोंं के ज्यादा सम्पर्क में आते हैं। 
 
श्री शर्मा ने बताया कि इस किट के जरिए रक्त की एक बूंद से ही कोरोना संक्रमण का पता चल सकेगा। लॉकडाउन के दौरान आवश्यक सेवाओं जैसे किराना की दुकान, चिकित्सा कर्मी, अस्पताल कर्मी, पुलिस, डेयरी, समाचार पत्र हॉकर्स, पानी-बिजली कर्मी, खुले उद्योगों के श्रमिकों आदि का दूसरे लोगों से प्रत्यक्ष एवं परोक्ष सम्पर्क हो रहा है। ऎसे में यह सुनिश्चत किया जाना जरूरी है कि कोरोना संक्रमण जयपुर के बाहरी हिस्से में तो कहीं नहीं फैल रहा है। चालू औद्योगिक इकाइयों में श्रमिकों का टेस्ट किया जाएगा क्योंकि उनका भी मूवमेंट हो रहा है। ऎसे कुल 15 सौ से अधिक रेण्डम टेस्ट टुकड़ों में किए जाएंगे। उन्होंने बताया कि जब ये किट जिले को मिल जाएंगे तो हैल्थ डिपार्टमेंट के तकनीकी स्टाफ द्वारा इसके इस्तेमाल की टे्रनिंग टेस्ट करने वालों को दी जाएगी।