लॉकडाउन के दौरान पुलिस व प्रशासन सख्ती से पेश आएं - सामाजिक न्याय ...

लॉकडाउन के दौरान पुलिस व प्रशासन सख्ती से पेश आएं - सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री

जयपुर, 28 मार्च। सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान जिले में कुछ लोग अनावश्यक घरों से बाहर निकलकर भारत सरकार एवं राज्य सरकार की ओर से जारी एडवाइजरी एवं आदेशों का उल्लंघन कर रहे हैं, जिसे अवहेलना मानकर संबंधित के खिलाफ पुलिस प्रशासन द्वारा सख्ती से निपटा जाएगा।
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने शनिवार को कहा है कि कतिपय लोग प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री एवं जिला प्रशासन के आदेशों की खुलेआम अवहेलना कर सड़कों पर एवं दुकानों पर भीड़ जमा कर सभ्य नागरिक होने का फर्ज नहीं निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि जरूरत इस बात की है कि लॉकडाउन को कफ्र्यू की तरह ही लिया जाये, परन्तु कुछ लोगों पर अपील का कोई प्रभाव नहीं हो रहा है। उन कुछ लोगों से जिला प्रशासन एवं पुलिस प्रशासन अब मौके पर ही सख्ती से निपटेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना बीमारी पूर्णत छूत की बीमारी है, जो छूने से या सक्रंमित व्यक्ति के सम्पर्क में आने से समुदाय में फैलती है। उन्होंने कहा कि इस विकट घड़ी में हम संयम बरतेंगे तो हमारा जिला, प्रदेश एवं देश इस महामारी से बच पायेगा।
 
हाथ जोड़कर अपील
 
मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल ने आमजन से हाथ जोड़कर अपील की है कि वे घर से बाहर न निकलें। खाने-पीने के सामान की कोई कमी नहीं है। दुकानों पर सभी सामान हमेशा उपलब्ध रहेगा। अतः घरों में अत्यधिक सामान का स्टॉक ना करें। उन्होंने कहा है कि वे एक अच्छे नागरिक होने का परिचय देवें और अपने साथ अपने परिवार के बारे में भी जरा सोचें।
 
सख्ती से करें कार्यवाही 
 
सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री ने जिला प्रशासन से कहा है कि जिले में लॉकडाउन के दौरान जिले में सरकारी आदेशों की पालना नहीं करने वालों के खिलाफ पुलिस की ओर से कड़ी कार्यवाही करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि गली, मौहल्लों एवं सड़कों पर कोई भी व्यक्ति दुपहिया, तिपहिया एवं चौपहिया वाहन लेकर अनावश्यक ना घूमे। उन्होंने जिले के समस्त दुकानदारों से कहा है कि आमजन से सामान की वाजिब कीमत वसूलें अन्यथा संंबंधित के विरूद्ध आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कड़ी कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने आमजन से कहा कि लॉकडाउन एवं एडवाइजरी का संयम से पालन करें अन्यथा जिले में बड़ी विकट स्थिति खड़ी हो जायेगी।