स्वायत्त शासन मंत्री ने कोरोना संक्रमण बचाव में नेतृत्व कर रहे अ...

स्वायत्त शासन मंत्री ने कोरोना संक्रमण बचाव में नेतृत्व कर रहे अधिकारियों के परिजनों से वार्ता की

जयपुर, 4 अप्रेल। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए संभागभर में अधिकारियों की ओर से सतर्कता व टीम भावना से कार्य किये जाने से कोई भी पॉजिटिव केस नहीं आने पर स्वायत्त शासन मंत्री श्री शांति धारीवाल ने शनिवार को आला अधिकारियों के परिजनों से वीडियो कॉल कर उनका उत्साह वर्धन किया। 
 
स्वायत्त शासन मंत्री ने कहा कि जिले के आला अधिकारियों की नेतृत्व क्षमता और सतर्कता के कारण सम्पूर्ण कोटा जिला अभी तक कोरोना वायरस के संक्रमण से बचा हुआ है। उन्होंने चिकित्सा विभाग के साथ प्रशासनिक व पुलिस विभाग के सभी कार्मिकों एवं कोरोना को रोकने में अपना दायित्व निभा रहे सभी विभागों के अधिकारियों एवं उनकी टीम जो दिन-रात काम में जुटी हुई है उनके कार्यों की सराहना की। 
 
स्वायत्त शासन मंत्री ने उपमहानिरीक्षक रविदत्त गौड़, जिला कलक्टर ओम कसेरा और मेडिकल कॉलेज प्राचार्य डॉ. विजय सरदाना के परिवारजनों से वीडियो कॉलिंग के जरिए बात कर सभी परिजनों का हौसला अफजाई करते हुए उन्हें धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा कि परिजनों के सहयोग की वजह से ही सभी अधिकारी कोरोना महामारी के खिलाफ अपना काम पूरी मुस्तैदी से कर पा रहे हैं। उन्होंने कहा कि मुझे जानकारी है कि सभी अधिकारी 18 से 20 घंटे लगातार नियमित कोरोना वायरस के खिलाफ अभियान में काम कर रहे हैं। परिजनों के सहयोग से ही यह संभव हो पाता है। उन्होंने परिजनों को कहा कि ऎसी स्थिति में वे अधिकारियों का मनोबल बढ़ाये जिससे अपने दायित्वों को भली-भांति पूर्ण मनोयोग से पूरा कर सकें। उन्होंने कहा कि सरकार अधिकारियों के साथ हमेशा खड़ी है। किसी भी संसााधन की कमी नहीं आने दी जायेगी। 
 
कोरोना से लड़ाई में सभी भागीदार बने
स्वायत्त शासन मंत्री ने कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए नियुक्त किये गये चिकित्सा कर्मियों, विभिन्न विभागों के अधिकारी, कर्मचारियों, पुलिस बल तथा जन जागरूकता के लिए लगे मीडियाकर्मियों, सामाजिक धार्मिक संगठनों, राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों का भी आभार व्यक्त किया है। उन्होंने सभी नागरिकों को आव्हान किया है कि कोरोना से लड़ाई में वे सरकार के निर्देशों की पालना करें तथा जिला प्रशासन को सक्रिय रूप से सहयोग देकर कोटा को कोरोना मुक्त कराने के कार्य में स्वप्रेरणा से आगे आये। उन्होंने कहा कि लॉक-डाउन के दौरान जरूरतमंद नागरिकोें को किसी प्रकार की परेशानी नहीं हो इसकी व्यवस्था सभी को मिलकर करनी होगी। 

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा बीपीएल परिवारों के लिए राशि बैक खातों में पहुंचा दी है तथा राशन सामग्री का वितरण भी किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि नगर निकायों में कार्यरत सफाई कर्मियों को 1 हजार रुपए वायरस से बचाव के लिए आवश्यक मास्क, दस्ताने, सेनेटाइजर के लिए दिये गये है तथा 50 साल से अधिक आयु के सफाई कर्मियों को सफाई कार्य से मुक्त किया गया है ताकि वे कोरोना से संक्रमित नहीं हो सकें।