बिहार के दिहाड़ी श्रमिकों को जिला प्रशासन ने पहुंचाई सहायता

बिहार के दिहाड़ी श्रमिकों को जिला प्रशासन ने पहुंचाई सहायता

बिहार के दिहाड़ी श्रमिकों को जिला प्रशासन ने पहुंचाई सहायता
 
जयपुर, 4 अप्रेल। लॉकडाउन के बाद जैसे-जैसे समय निकलता गया और घर की राशन सामग्री भी खत्म होने लगी तो ऎसा लगा कि परिवार का पेट अब कैसे भरेगा लेकिन जिला प्रशासन की ओर से दी गई सहायता से मेरा परिवार अब भूखा नहीं सो रहा है। यह कहना है बिहार के मोहम्मद जमालुद्दीन का जो 45 श्रमिकों के साथ कुछ माह पहले ही रोजगार की तलाश में जयपुर आये थे। 
 
यह श्रमिक सीतापुरा ओद्यौगिक क्षेत्र में परिवार के साथ जीवन यापन करने लगे। इसी बीच कोरोना महामारी संक्रमण को रोकने के लिये लगाये लॉकडाउन से जयपुर में फंस गये। वाररुम में सूचना मिलते ही अतिरिक्त जिला कलक्टर (चतुर्थ) डॉ. अशोक कुमार के निर्देश पर उपखण्ड अधिकारी (उत्तर) ओम प्रभा ने मोहम्मद जमालुद्दीन तथा उसके साथ के श्रमिकों एवं परिवारों को 5 किलो आटा, तेल, नमक, मिर्च-मसाले के पैकेट्स की व्यवस्था की। 
 
अतिरिक्त जिला कलक्टर डॉ. श्री अशोक कुमार (चतुर्थ) ने कहा है कि जिला प्रशासन की कोशिश है कि कोई भी व्यक्ति भूखा ना रहें। इसके लिए जयपुर जिले के वाररुम में सूचना पहुंचते ही जरूरतमंद को भोजन व राशन आदि सामग्री की व्यवस्था तुरन्त प्रभाव से की जा रही है। जिला प्रशासन गरीबों, मजदूरों एवं जरूरतमंदों की हर सम्भव सहायता के लिये प्रयासरत है।